what is market segmentation/market segmentation

बाजार खंडीकरड क्या है
सामान्यतः किसी वस्तु के सभी ग्राहक में समानता नहीं होता है उनके स्वभाव गुण प्रक्रिति क्यूं रहन सहन का सत आदि में आनतर होता है इसी कारणवश एक निर्माता एक प्रकार के ग्राहक समुदाय के लिए एक प्रकार की वस्तु बनाता है और दूसरे प्रकार के ग्राहक के समुदाय के लिए दूसरे प्रकार की इस प्रकार वह अपने बाजार को विभिन्न खंडों में विभाजित करता है याह बाजार खंडीकरण कहलाता है किसी वस्तु या सेवा के समस्त बाजार को उपबाजारों में विभाजित करने की प्रक्रिया को बाजार खंडीकरण कहा जाता है प्रत्येक उपबाजार दूसरे उपचार से भिन्न होता है परंतु एक बाजार के समस्त ग्राहक समान होते हैं

फिलिप कोटलर. के शब्दों में एक बाजार को समान प्रकार के ग्राहकों की उप उपजातियों में विभाजन करने को बाजार खंडीकरण कहते हैं जिसमें कि किसी उपजाति को चुना जा सके और विशिष्टी विपणन मिश्रण  के साथ बाजार को लक्ष्य बनाकर उस तक पहुंचा जा सके बाजार को विभिन्न समुदायों मैं बांटने को बाजार विभक्तिकरण (Market segmentation) कहते हैं यह वह प्रक्रिया है जिसमें बाजार के विभिन्न ग्राहक को यह संभव ग्राहकों को उनकी विशेषताओं आवश्यकताओ या व्यवहारों के अनुसार समजातीय समूहों में विभाजित किया जाता है ताकि समान यह लगभग समान विशेषताओं आवश्यकता या व्यवहार वाले ग्राहकों के समूह के लिए एक समान विपणन मिश्रण एवं विपणन व्यूहरचना का निर्माण करके भी विपणन कार्य में सफलता प्राप्त की जा सके बाजार खंडी कर्ण का मुख्य उद्देश्य ग्राहकों की विभिन्न आवश्यकताओं को पहचान कर उनके लिए उचित वस्तु मिश्रण तैयार करना है
बाजार खंडी करण के आधार:(Basic of market segmentation)

भौगोलिक: बाजार खंडीकरन का यह  पहला आधार है जिसमें संपूर्ण बाजार को भौगोलिक आधार पर बांट दिया जाता है जैसे गर्म क्षेत्र ठंडा क्षेत्र शहरी क्षेत्र एवं ग्रामीण क्षेत्र

मनोविजनिक: (psychologic) बाजार खंडीकरण मनोविज्ञान आधार पर भी हो सकता है समाज में कुछ व्यक्ति ऐसे भी होते हैं जो नवीनतम वस्तुओं को क्रय करने में ही अपनी प्रतिष्ठा समझते हैं जबकि कुछ व्यक्ति सदा वस्तुओं को क्रय करना पसंद करते हैं वस्तुओं का निर्माण ग्राहकों के मनोविज्ञान आधार पर करके अधिक लाभ कमाया जा सकता है

लाभ: (Benefit) एक निर्माता ग्राहकों द्वारा उत्पाद से प्राप्त लाभो  को ध्यान में रखकर बाजार खंडीकरण कर सकता है और अपने विज्ञापन को उस ओर इंगित कर के लाभ कमा सकता है विभिन्न वर्ग के ग्राहक वस्तु से विभिन्न लाभ प्राप्त करना चाहते हैं जैसे कुछ लोग समय मालूम करने के लिए घड़ी खरीदते हैं तो अन्य प्रतिष्ठित बढ़ाने के लिए हीरे जडी घड़ी खरीदते हैं

जनांकिकी : (Demographic) इसमें निर्माता अपने ग्राहकों के समूह को उनकी आयु व्यवसाय शिक्षा राष्ट्रीयता सामाजिक जाति धर्म परिवार आकर आदि के आधार पर बांट सकता है

विपणन : (Marketing) बाजार खंडी करण का आधार विवरण भी हो सकता है इसमें वस्तु का मूल्य वस्तु की क्वालिटी फुटकर विज्ञापन आदि घटक आते हैं बाजार खंडी कराने इन्हीं आधारो पर किया जाता है

मात्रा: (Volume)  इसमें वस्तु के कविताओं की कार्य मात्रा के आधार पर बाजार का खंडी कारण हो सकता है जैसे कुछ ग्राहक भारी मात्रा में वस्तु का क्रय करते हैं तथा कुछ कम मात्रा में

खंडीकरण के गुण: बाजार खंडी करण अनेक प्रकार से लाभदाई है फिलिप कोटलर के अनुसार बाजार खंडीकरण से संस्था अधिक अच्छे उत्पाद या अच्छी सेवा उपलब्ध करा सकती है तथा लक्ष्य बजार के लिए उसका समुचित मूल्य निर्धारित कर सकती है संस्था सर्वोत्तम वितरण एवं संचार माध्यमों का चयन कर सकती है तथा अपने प्रतियोगियों की तस्वीर को अधिक स्पष्ट रूप से देख सकती है बाजार खंडी करण के महत्व एवं लाभों को नीचे कुछ शीरक में स्पष्ट किया जा सकता है विपणन अवसरों का ज्ञान होता है प्रत्येक खंड के ग्राहकों की आवश्यकताएं एवं रुचियों को जानकर विपणन मिश्रण में सुधार किया जा सकता है विपणन बजट का उचित बंटवारा किया जा सकता है प्रतियोगिता का सामना एवं संसाधनों का उच्चतम उपयोग किया जा सकता है ग्राहकों की रुचि के अनुसार वस्तु के आकार डिजाइन किस पैकिंग आदि को उत्तम बनाया जा सकता है बाजार खंडी करण से बिक्री के वास्तविक लक्ष्य निर्धारित करने में सहायता मिलती है ऐसे विचारों का पता लगाया जा सकता है जिन पर विशेष ध्यान देना आवश्यक है प्रत्येक वर्ग के ग्राहकों के लिए उपयुक्त उत्पाद मिश्रण विकसित किया जा सकता है


Previous
Next Post »

The biggest disclosure of the Income Tax Department,

The biggest disclosure of the Income Tax Department The biggest disclosure of the Income Tax Department, the salary of 9 people in the co...