Procedure for issue of Accounting Standard in india

      भारत में लेखांकन मानक जारी करने की प्रक्रिया

Procedure for issue of accounting standard in India 


देश-विदेश में लेखाकन के क्षेत्र में कई प्रकार की नीतियां तथा कई प्रकार के व्यवहार प्रचलित है इनमें एकरूपता लाने के लिए विश्व स्तर पर अंतरराष्ट्रीय लेखा मानक समिति 
International accounting standard committee -IASC की स्थापना हुई इस आवश्यकता को महसूस करते हुए भारतीय चार्टर्ड अकाउंटेंट संस्थान 
Institute of chartered accountants of India - ICAI ने भी 21 अप्रैल 1977 को लेखा मानक मंडल
Accounting standard board -ASB की स्थापना की 
                                   
Procedure for issue of Accounting Standard in india
                            


लेखांकन प्रमाप जारी करने के लिए ASB द्वारा अपनाई गई प्रक्रिया 

(1) क्षेत्र का निर्धारण (Determination of area)-ASB
     उन क्षेत्रों का निर्धारण करेगा जिनके संबंध में लेखाकन
     मानक जारी किए जाने चाहिए वह इनके चयन में 
    प्राथमिकता को भी निर्धारित करता है 


(2) अध्ययन दलों का गठन (formation of a study 
      Groups)

      लेखांकन प्रमाप तैयार करने में विशिष्ट विषयों पर विचार 
      हेतु अध्ययन दलों द्वारा ASB की सहायता की जाती है 
      प्रत्येक अध्ययन दल में ASB के सदस्यों तथा उद्योग 
      सरकारी अभिकरणों तथा अन्य संस्थाओं से लिए विषय
      विशेषज्ञों द्वारा भाग लिया जाता है 


(3) प्रारूप तैयार करना (preparation of draft)

      एक अध्ययन दल जिसे विशेष विश्व आबंटित किए जातें 
      है प्रस्तावित लेखाकन प्रमाप का प्रारम्भिक प्रारूप तैयार 
      करके ASB विचारार्थ प्रस्तुत करता है

(4) बाहरी संस्थाओं से विचार-विमर्श (Dialogue with
      Outside bodies) 

    अध्ययन दल द्वारा प्रस्तुत प्रारूप पर विस्तार से विचार 
    किया जाता है इसके लिए विभिन्न बाहरी संस्थाओं (जैसे
    CLB ,FICCI,CBDT, बैंक तथा अन्य पेशेवर संस्थाओं )
    के प्रतिनिधियों को ASB की बैठक में विचारार्थ आमंत्रित 
   क्या चाहता है तथा प्रारूप में वर्णित विषय वस्तु पर उनके
   विचार जाने जाते हैं 
                                   
https://6299620808146660337_59a882db420a55855a3bb7001a1735229145b98a.blogspot.com/b/post-preview?token=APq4FmDEZIRK0bSXsojiLYNRjururFo5Gt_5OyFpIVOwCaenNdE_1pkS2Tu518zIRlx3OKiwVunFC7p_7Ehp3v39dgRN8FtQrg0jxASJqh_xOx6gvR7fxmtJFOIkEkdctVMVIA6x1yl4&postId=5840017582503806036&type=POST&m=1

(5) प्रदर्शन प्रारूप तैयार कर जारी करना 
     (To prepare and issue exposure daft) 
   
     उपरोक्त बारी संस्थाओं के दृष्टिकोण और टिप्पणियों पर
     विचार करने के बाद प्रमाप के प्रारूप को प्रदर्शन प्रारूप 
     (Exposure draft) के रूप में अंतिम रूप दिया जाता 
     है इस प्रदर्शन प्रारूप को ICAI के सदस्यों तथा 
     जनसाधारण से टिप्पणियां (Comments) आमंत्रित 
    करने के लिए संप्रेषण द्वारा तथा संस्थान ICAI की पत्रिका
   मैं प्रकाशित किया जाता है 

(6) प्रमाप को अंतिम रूप में जारी करना
     (Finalisation and issue of standards-ASB)
     
     प्राप्त टिप्पणियों पर विचार करता है वह प्रदर्शन प्रारूप 
     को आवश्यकतानुसार संशोधित करता है तथा अंतिम 
     रूप में प्रमाप तैयार करके भारतीय चार्टर्ड लेखाकार 
     संस्थान की परिषद के सम्मुख अनुमोदन (Approval)
    के लिए प्रस्तुत करता है परिषद ASB की सलाह से 
    अंतिम प्रारूप में कुछ परिवर्तन कर सकता है इसके 
    पश्चात लेखाकन प्रमाप परिषद के अधिकार में जारी कर
   दिया जाता है 

1.

2.

What is final account and how it is prepared?


3.

qualification of auditor under companies act 2013


                                                                               

    

Previous
Next Post »

आपके घर और फोन की पर्सनल बातें सुन रहे हैं गूगल के कर्मचारी

  आप के घर की प्रश्न बातें सुन रहे हैं गूगल के कर्मचारी गैजेट डैस्क:  गूगल को लेकर एक ऐसी चौकाने वाली खबर सामने आई है जिसके बारेे...